WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

इलायची भाव में आएगी तेजी या मंदी जानिए खास तेजी मंदी रिपोर्ट 2024

Spread the love
इलायची भाव में आएगी तेजी/ Will there be a rise or fall in the price of cardamom? Know the special rise and fall report 2024 : – नमस्कार किसान भाइयों हम आपको समय समय पर सभी फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट उपलब्ध करवाते हैं आज आपको इलायची की तेजी मंदी रिपोर्ट उपलब्ध करवाएंगे। इलायची भाव में गिरावट आई जिसका कारण उत्पादक क्षेत्रों में भारी बारिश होना है। रोजाना अपनी मंडी के ताजा भाव अपडेट फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट और मौसम पूर्वानुमान की जानकारी पाने के लिए गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi Xpert

यह भी जाने 👉 नीम से जैविक कीटनाशक बनाने की विधि/ जानिए पूरी प्रक्रिया

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

यह भी जाने 👉 सरकार ने जारी किया अलर्ट बिना OTP के खाली हो रहा बैंक अकाउंट, ऐसे करें अपना बचाव

छोटी इलायची : तेजी की उम्मीद नहीं
नई दिल्ली, 19 जनवरी नीलामियों में छोटी इलायची की आवक में हाल ही में कमी का रुख बना हुआ है। इसके बाद भी थोक बाजारों में छोटी इलायची में तेजी के आसार कमजोर पड़ने लगे हैं। अतः आने वाले दिनों में छोटी इलायची में तेजी की उम्मीद नजर नहीं आ रही है।

उत्पादकों की बिकवाली सीमित होने से हाल ही में विभिन्न नीलामियों में छोटी इलायची की आवक में थोड़ी कमी देखी जा रही है। यही वजह है कि इन पंक्तियों के लिखे जाने के समय हुई ग्रीन हाऊस cardamom मार्केटिंग इंडिया प्राइवेट लिमिटेड नीलामी में छोटी इलायची की आवक घटकर 60,235 किलोग्राम छोटी इलायची की आवक होने की सूचना मिली। आवक तुलनात्मक रूप से नीची होने के बाद भी लिवाली कमजोर पड़ने से इसकी औसत नीलामी कीमत मंदी हो गई। नवीनतम नीलामी में छोटी इलायची की औसत नीलामी कीमत मंदी होकर 1612.86 रुपए प्रति किलोग्राम रह गई। इससे पूर्व पूर्व 9 जनवरी को हुई इस नीलामी में यह कीमत 1625.99 रुपए थी।

उत्पादक क्षेत्रों में भारी वर्षा से गिरावट: –

इससे पूर्व उत्पादक क्षेत्रों में अनुकूल वर्षा होने और धूप भी निकलने से छोटी इलायची की वर्तमान में चल रही फसल को फायदा होने की उम्मीद व्यक्त की जा रही थी। यद्यपि पूर्व में केरल समेत दक्षिण भारत के अन्य प्रमुख उत्पादक राज्यों में भारी मानसूनी वर्षा हुई थी। इसकी वजह से इदुक्की समेत इन राज्यों के कई क्षेत्रों में बाढ़ आ गई थी। इसके परिणामस्वरूप छोटी इलायची की नई फसल को क्षेत्रवार तथा राज्यवार करीब 15 से 40 प्रतिशत की हानि होने की आशंका जताई जा रही थी। छोटी इलायची में आने वाले करीब एक-सवा महीने में उल्लेखनीय तेजी आने के आसार नजर आने लगे हैं।

इसका एक प्रमुख कारण यह है कि ग्वाटेमाला ने हाल ही में अपनी छोटी इलायची की कीमत में वृद्धि की है। इसकी वजह से भारतीय छोटी इलायची की निर्यात मांग बढ़ने के आसार हैं। राजधानी स्थित थोक किराना बाजार में लिवाली का हल्का-फुल्का समर्थन मिलने से छोटी इलायची साढ़े सात एमएम हाल ही में 50 रुपए मंदी होकर फिलहाल 1850/1900 रुपए प्रति किलोग्राम के स्तर पर बनी हुई है।

इससे पूर्व इसमें 75-100 रुपए की तेजी आई थी। मसाला बोर्ड के उपलब्ध आंकड़ों के अनुसार चालू वित्त वर्ष 2023-24 के आरंभिक सात महीनों में देश से 340.21 करोड़ रुपए मूल्य की कुल 2375.06 टन छोटी इलायची का निर्यात हुआ है। एक वर्ष पूर्व की आलोच्य अवधि में इसकी 4828.86 टन मात्रा का निर्यात हुआ था और इससे 561.99 करोड़ रुपए की आय हुई थी। आने वाले दिनों में छोटी इलायची में तेजी की उम्मीद अब नहीं दिख रही है।

Don`t copy text!