WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

wheat boom Recession report / गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट

Spread the love

Wheat boom Recession report/ गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 : – किसान भाइयों इस पोस्ट में गेहूं की तेजी मंदी रिपोर्ट प्रकाशित की जाएगी। गेहूं भाव 2500 रुपए प्रति क्विंटल से पार जा चुके थे लेकिन सरकार द्वारा स्टाक लिमिट लगाने से भाव 2370 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए दिल्ली मंडी में लेकिन फिर वापस तेजी आई और भाव 2400 रुपए प्रति क्विंटल से पार पहुंच गए। गेहूं भाव में ज्यादा मंदी की उम्मीद नहीं है। रोजाना अपनी मंडी के भाव अपडेट, वायदा बाजार भाव फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट और मौसम पूर्वानुमान की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर रोजाना विजीट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

गेहूं तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 , wheat boom Recession report,

सरसों तेजी मंदी रिपोर्ट 👉 https://www.mandixpert.com/mustard-boom-recession-report-2023/

चना भाव तेजी मंदी रिपोर्ट 👉 https://www.mandixpert.com/gram-chickpea-boom-recession-report-2023/

दिनांक 19 जून 2023 दिन सोमवार

गेहूं सप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट: पिछले सप्ताह शुरुवात सोमवार दिल्ली गेहूँ 2460/65 रुपये पर खुला था ओर शनिवार शाम दिल्ली गेहूँ-2450 रुपये पर बंद हुआ, बीते सप्ताह के दौरान गेहूँ मे मांग न रहने से -15 रुपए प्रति कुंटल की गिरावट दर्ज हुआ,बाजार के जड़ में मंदी नहीं है। परंतु सरकार अपना पूर्ण प्रयास करेगी की भाव नियंत्रण में रहे यदि बाजार में दुबारा अच्छी तेजी का दौर बना तो सरकार द्वारा IMPORT पर कोई निर्णय जल्द ही लिया जायेगा और यदि IMPORT पर कोई निर्णय सरकार लेती है। तो बाजार महीने भर के लिए टूट जायेंगे यदि दिल्ली लाइन सोमवार को 2430 के उप्पर बंद होता है। तो पूरी उम्मीद है 28 जून के पहले 2500 के आकड़े को भी पार कर जाएगी बाजार में आवक की चाल यदि ऐसी ही बनी रही तो सरकार का हर प्रयास तेजी को रोकने में विफल होगा बाजार में बढ़ती आवक ही बाजार के दाम को धीमी कर सकती है। स्टॉकलिमिट 31 मार्च 2024 तक लागू रहेगा स्काइमेट 9 जुलाई तक देश में मॉनसून कमजोर रहने की संभावना पंजाब के बाज़ारो में आयी पूर्ण रूप से रिकवरी, बाजार अपने उचतम स्तर से सिर्फ 25 से 50 रूपए निचे कर रहे कारोबार उत्तरप्रदेश के कुछ बाज़ारो में जो स्टॉक लिमिट लगने के कारण गिरावट आयी थी वो पूर्ण रूप से रिकवर होकर अपने पुराने भाव पर कारोबार कर रहे है। वहीं कुछ बाज़ारो में अब भी 100 रूपए की गिरावट बनी हुई है। कोलकाता में भी बाजार के भाव हुए कॅमजोर 200 रूपए की गिरावट बाजार मैं दर्ज की गयी थी जिसमे से 100 रूपए की रिकवरी हो चुकी है। आटा और मैदा के भाव में कोई विशेष गिरावट नहीं दिखी खाद्य मंत्रालय ने कहा कि राज्यों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम (NFSA) और अन्य ‘केंद्रीय’ कल्याणकारी योजनाओं के तहत उनकी पात्रता के अलावा अतिरिक्त मात्रा की पेशकश नहीं की जाएगी। अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक अशोक के मीणा गुरुवार को यह बात कही। OMSS के तहत, सरकार ने मार्च 2024 तक केंद्रीय पूल आटा मिलों, निजी व्यापारियों, थोक खरीदारों और गेहूं उत्पादों के निर्माताओं से 15 लाख टन गेहूं की बिक्री करने का फैसला किया है। हम 28 जून को होने वाली पहली ई-नीलामी में 3-5 लाख टन गेहूं की पेशकश करेंगे। पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। उन्होंने कहा कि पूरे भारत में 31 दिसंबर तक उचित और औसत गुणवत्ता के लिए गेहूं का आरक्षित मूल्य 2,150 रुपये प्रति क्विंटल और ढीली विशिष्टताओं (URS) के तहत 2.125 रुपये प्रति क्विंटल निर्धारित किया गया है।खरीदार गेहूं के लिए न्यूनतम 10 टन और अधिकतम 100 टन प्रति ई-नीलामी के लिए बोली लगा सकते हैं। बाजार में FCI के तहत OMSS की बिक्री नहीं होगी ऐसी बात हो रही है। इसकी कोई जानकारी FCI के पोर्टल पर नहीं दी गयी है। चोकर के दाम पुनः मजबूत होना शुरू हो चुके है। आज अधिकांश बाजार में अच्छी तेजी दर्ज की गयी।
व्यापार अपने विवेक से करें

Don`t copy text!