WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

नैपियर घास एक बार लगाएं और 4 साल तक लगातार कटाई करें। पशुओं के लिए फायदेमंद

Spread the love

नैपियर घास एक बार लगाएं / Plant Napier grass once and harvest continuously for 4 years. beneficial for animals : – नमस्कार किसान भाइयों इस पोस्ट में जानेंगे नेपियर घास की खेती कैसे करें और चार साल तक कटाई करके अनावश्यक खर्च से कैसे बचें और पशुओं के लिए बहुत फायदेमंद है यह चारा। हमारी वेबसाइट पर रोजाना मंडी भाव फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट मौसम पूर्वानुमान और कृषि समाचार योजनाओं की जानकारी पाने के लिए रोजाना विजिट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi Xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

यह भी जाने 👉

हरियाणा फसल बीमा क्लेम 2024 / किसानों का 115 करोड़ का फसल बीमा क्लेम हुआ जारी।

खेतों में पाइप लाइन के लिए मिल रही सब्सिडी, जल्दी करें आवेदन, सम्पूर्ण जानकारी

देशी गाय खरीद सब्सिडी योजना 2024 / देशी गाय खरीदने पर मिलेंगे 25000 रुपए

Napier Grass: एक बार लगाएं और चार साल तक काटें, फरवरी में शुरू कर दें इस चारे की खेतीनेपियर घास किसानों और पशुपालकों के बीच काफी लोकप्रिय हो रही है. नेपियर घास पशुओं के लिए बेहतर चारा है. नेपियर घास ज्यादा पौष्टिक और उत्पादक होती है. इस घास के सेवन से पशुओं में दूध उत्पादन बढ़ने के साथ ही पशुओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है ।

खेती-किसानी के बाद पशुपालन किसानों की पहली पसंद बनता जा रहा है. कमाई के लिहाज से भी पशुपालन करना किसानों और पशुपालकों के लिए फायदे का सौदा रहा है, लेकिन पशुओं से व्यवसाय तभी सफल होता है जब पशुपालन से जुड़ी सभी बुनियादी बातों की जानकारी हो. इसके लिए जरूरी है कि आप अपने पशुओं के रखरखाव और बेहतर खानपान की जानकारी रखते हों.

पशुपालकों को सलाह दी जाती है कि पोषण से भरपूर हरा चारा खिलाएं.वहीं ज्यादातर पशुपालकों के लिए पशु चारा उगाना आसान है क्योंकि वे पशुपालन के साथ खेती भी करते हैं. ऐसे में पशुपालकों को ऐसी घास उगानी चाहिए जिसे एक बार खेती करके वह कई सालों तक काट कर अपने पशुओं को खिला सकें । ऐसा ही एक घास है हाथी घास जिसे लोग नेपियर के नाम से भी जानते हैं ।

पशुओं के लिए बेहतर चारा है हाथी घास नेपियर घास किसानों और पशुपालकों के बीच काफी लोकप्रिय हो रही है. नेपियर घास पशुओं के लिए बेहतर चारा है. नेपियर घास ज्यादा पौष्टिक और उत्पादक होती है. इस घास के सेवन से पशुओं में दूध उत्पादन बढ़ने के साथ ही पशुओं के बेहतर स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है. पशुपालकों को अपने गाय-भैंसों को चारे के रूप में हरी-भरी घास देने की सलाह दी जाती है.

आज का मंडी भाव 👉

मंडी भाव 1 फरवरी 2024 / ग्वार सरसों चना मूंग मोठ मसूर तिल नरमा भाव

Guar bhav today 1 February 2024 / ग्वार वायदा और ग्वार भाव में तेजी

हरे घास में हाथी घास के नाम से मशहूर नेपियर घास पशुओं के लिए काफी फायदेमंद मानी जाती है ।

जानें कब करें नेपियर घास की खेती हाथी घास की खेती किसान किसी भी मौसम में कर सकते हैं. हाथी घास को बोने के लिए इसके डंठल को काम में लिया जाता है, जिसे नेपियर स्टिक कहा जाता है. स्टिक को खेत में डेढ़ से दो फिट की दूरी पर रोपा जाता है. वहीं एक बीघा में करीब 8 हजार डंठल की आवश्यकता होती है.

इस घास के डंठल को जुलाई से अक्टूबर और फरवरी में बोया जा सकता है. वहीं इसके बीज नहीं होते हैं. साथ ही इसकी खेती के लिए उचित जल निकास वाली मटियार और बलुई दोमट मिट्टी बेहतर होता है.चार से पांच साल तक देती है उपज एक बार बुवाई करने के बाद यह लगातार चार से पांच सालों तक काटी जाने वाली घास है. हर 02 से 03 महीने में घास की ऊंचाई 15 फीट हो जाती है.

नेपियर घास को बार-बार निराई, गुड़ाई या रासायनिक खाद और कीटनाशकों की भी जरूरत नहीं होती. यह बेहद कम खर्च में तैयार होने वाली है. इस घास से हर 3 महीने में एक बीघा में कटाई से किसान 20 टन से ज्यादा उपज ली जा सकती है ।

Don`t copy text!