WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

Guar export demand figure/ ग्वार निर्यात मांग आंकड़े

Spread the love

Guar export demand figure / ग्वार निर्यात मांग आंकड़े। जानिए ग्वार की विदेशों में मांग और भारत में ग्वार के आंकड़े। किसान भाइयों इस पोस्ट में ग्वार निर्यात आंकड़े उपलब्ध करवायेंगें। ग्वार भाव में पिछले 15 दिनों से लगातार तेजी मंदी जारी है ग्वार का भाव गुजरात की मंडियों में 5800 रुपए प्रति क्विंटल को पार कर चुका है लेकिन राजस्थान और हरियाणा की मंडियों में भाव 5000 से 5350 रुपए प्रति क्विंटल के बीच बने हुए हैं। रोजाना अपनी मंडी भाव, वायदा बाजार भाव, फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट और मौसम पूर्वानुमान की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर रोजाना विजीट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

guar export demand figure, ग्वार निर्यात मांग आंकड़े, gwar ka bhav Aaj ka, guar boom Recession report

आज का मंडी भाव 👉 https://www.mandixpert.com/anaj-mandi-bhav-today-24-june-2023/

सरसों का भाव 👉 https://www.mandixpert.com/sarson-mandi-bhav-today-24-june-2023/

दिनांक 25 जून 2023 दिन शनिवार

अप्रैल में 30 हजार टन से कुछ अधिक ग्वार गम का निर्यात आयातक देशों में भारतीय ग्वार गम की मांग सामान्य बनी हुई है जबकि घरेलू प्रभाग में ग्वार की आपूर्ति का ऑफ सीजन चल रहा है। इसकी बिजाई का समय आ गया है। राजस्थान, गुजरात एवं हरियाणा भारत में ग्वार के तीन शीर्ष उत्पादक राज्य हैं। उल्लेखनीय है कि भारत दुनिया में ग्वार का सबसे प्रमुख उत्पादक एवं ग्वार गम का सबसे बड़ा निर्यातक देश है। ग्वार गम के वैश्विक निर्यात बाजार में भारत अन्य आपूर्तिकर्ता देशों से काफी आगे रहता है।

वाणिज्य सतकर्ता एवं संख्यिकी महानिदेशालय (डीजीसीआईएस) की रिपोर्ट के अनुसार चालू वित्त वर्ष के प्रथम माह यानी अप्रैल 2023 में देश से ग्वार गम का निर्यात सुधरकर 30,190 टन पर पहुंच गया जो अप्रैल 2022 के शिपमेंट 29,134 टन से अधिक था। इसी तरह अप्रैल 2022 की तुलना में अप्रैल 2023 के दौरान ग्वार गम के निर्यात से प्राप्त आमदनी भारतीय मुद्रा में 362 करोड़ रुपए से 20.44 प्रतिशत गिरकर 288 करोड़ रुपए तथा विदेशी मुद्रा में 4.80 करोड़ डॉलर से 26.12 प्रतिशत घटकर 3.50 करोड़ डॉलर पर सिमट गई। मात्रा में बढ़ोत्तरी होने के बावजूद ग्वार गम की निर्यात आय में गिरावट आने का प्रमुख कारण इसके निर्यात ऑफर मूल्य में भारी कमी आना रहा। महानिदेशालय के अनुसार अप्रैल 2022 में भारतीय ग्वार गम का फ्री ऑन बोर्ड औसत इकाई निर्यात ऑफर मूल्य उछलकर 1632 डॉलर प्रति टन पर पहुंच गया था।

जो अप्रैल 2023 में घटकर 1164 डॉलर प्रति टन रह गया। इससे वैश्विक बाजार में भारतीय ग्वार गम काफी सस्ता हो गया। इसके फलस्वरूप आयातक देशों में मांग तो बढ़ी मगर उसके अनुरूप आमदनी प्राप्त नहीं हो सकी। आगामी समय में निर्यात प्रदर्शन सामान्य रहने की उम्मीद है।
डिस्क्लेमर :- व्सेयापार में विवेक से करें ।

Don`t copy text!