WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

चना काबुली चना तेजी मंदी रिपोर्ट 2023

Spread the love

चना काबुली चना तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 / Gram Chickpea weekly boom Recession report 2023 : – चना भाव तेजी मंदी रिपोर्ट 2023, काबुली चना तेजी मंदी रिपोर्ट 2023, नमस्कार किसान भाइयों चना भाव में पिछले सप्ताह से तेजी जारी है। देशी चना दिल्ली मंडी में 5600 के स्तर को छू चुका है। राजकोट मंडी गुजरात में चना भाव 5900 रुपए प्रति क्विंटल तक पहुंच गए हैं। काबुली चना के भाव में तेजी जारी है और इंदौर मंडी में भाव 14500 रुपए प्रति क्विंटल पहुंच गए हैं। रोजाना अपनी मंडी के ताजा भाव अपडेट, फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट मौसम पूर्वानुमान और किसान योजनाओं की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर रोजाना विजीट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

चना काबुली चना तेजी मंदी रिपोर्ट 2023, Gram Chickpea weekly boom Recession report 2023,

सरसों भाव तेजी मंदी रिपोर्ट 👉 सरसों साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट 2023

काबुली चना सप्ताहिक रिपोर्ट : पिछला सप्ताह सुरुवात सोमवार इंदौर काबुली (40/42)14900 रुपये पर खुला था और शनिवार शाम (40/42) 15400 रुपये पर बंद हुआ। बीते सप्ताह के दौरान काबुली चना मे मांग बनी रहने से +500 रुपए प्रति क्विंटल मजबूत दर्ज हुआ, कृषि बाजार भाव सर्विस द्वारा सीजन की शुरुआत से ही काबुली चना का सीजन बेहतर रहने की रिपोर्ट रही सटीक काबुली कंटेनर में पिछले सप्ताह 500 रुपये की मजबूती रहे मंडियों में बेस्ट क्वालिटी की आवक नहीं; एवरेज क्वालिटी में 500-600 का सुधार रहा सुस्त आवक और बेहतर मांग के कारण काबुली में सुधार इसबीच अल्जीरिया द्वारा 10,000 टन काबुली खरीदी टेंडर निकलने की रिपोर्ट से काबुली में मजबूती सप्लाई डिमांड में बड़ा अंतर होने से काबुली का फंडामेंटल मजबूत काबुली चना की आवक प्रमुख मंडियों में काफी सुस्त है आने वाले 4 महीनों के दौरान काबुली की घरेलू मांग में इजाफा होगा क्योंकि त्योहारी सीजन लगते हैं। काबुली की सर्वाधिक खपत होटल, रेस्टोरेंट ढाबे के साथ शादियों में अधिक होता है। काबुली में निर्यात मांग फिलहाल औसत है, लेकिन यह भी जल्द रफ़्तार पकड़ने की उम्मीद काबुली चना की घरेलु खपत मांग औसतन प्रति माह 20000 टन के आसपास रहता है और यह शादियों के सीजन में बढ़ता भी है। काबुली चना का सप्लाई डिमांड में बड़ा अंतर है क्योंकि घरेलु फसल अब अगले वर्ष फरवरी में ही आएगी काबुली के मजबूत फंडामेंटल को देखते हुए इस वर्ष भाव में मजबूती जारी रहने की उम्मीद।

चना सप्ताहिक रिपोर्ट : पिछला सप्ताह सुरुवात सोमवार दिल्ली राजस्थान लाइन नया 5400/25 रुपये पर खुला था और शनिवार शाम चना 5550/75 रुपये पर बंद हुआ। बीते सप्ताह के दौरान चना दाल बेसन में मांग बनी रहने से +150 रुपये प्रति क्विंटल की मजबूत दर्ज की गई, कृषि बाजार भाव सर्विस की चना में मजबूती की रिपोर्ट रही सटीक कृषि बाजार भाव सर्विस द्वारा दिल्ली चना का 5500-5600 का लक्ष्य प्राप्त हुआ नाफेड टेंडर में कारोबारियों द्वारा बढ़चढ़कर भागीदारी से मजबूती नाफेड ने भी चना टेंडर एक योग्य भाव पर पास करने से सेंटीमेंट मजबूत मंडियों में चना कम और डंक वाले माल आने से अधिकतर कारोबारी नाफेड टैंडर से चना खरीदी कर रहे दिल्ली चना का जो पहले बेस 5000 बना था वह अब 5450-5500 पर बनता नजर आ रहा यानी की अब इसके निचे जाने की संभावना कम चना की सबसे अधिक सितम्बर-नवंबर तक होती है इसलिए आने वाले समय में मांग भी बढ़ने की उम्मीद है। नाफेड द्वारा अब तक 2022 स्टॉक में से 3.20 लाख टन चना बिक्री होने का अनुमान है। कृषि बाजार भाव सर्विस में हमारा मानना है की नाफेड चना में कारोबारियों की आगे मांग भरपूर रहेगी अगले 4 महीने चूँकि त्योहारी सीजन है तो लगभग 20-25 लाख टन चना की मांग का आसानी से अनुमान है मंडियों में सुस्त आवक को देखते हुए इस मांग की पूर्ति नाफेड को करनी होगी यानि की इस मांग की पूर्ति के लिए प्रति माह 6-6.5 लाख टन कम से कम चना लगेगा अब प्रश्न उठता है की क्या नाफेड दवारा चना की बढ़ती मांग की पूर्ति हो सकेगी चना का फंडामेंटल धीरे धीरे मजबूती की तरफ बनता नजर आ रहा है। दिल्ली चना (राजस्थान) को 5450-5500 का मजबूत सपोर्ट जबकि 5800-5825 पर अगला रेजिस्टेंस।

Don`t copy text!