WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

Cottonseed fast recession report 2023 / खल बिनौला तेजी मंदी रिपोर्ट

Spread the love

Cottonseed fast recession report 2023 / खल बिनौला तेजी मंदी रिपोर्ट । नमस्कार किसान भाइयों हम लेकर हाजिर हैं खल बिनौला की तेजी मंदी रिपोर्ट। पिछले दिनों जारी नरमा कपास की कीमतों में गिरावट का असर खल बिनौला में भी देखने को मिला। खल बिनौला भाव में पिछले सप्ताह से अब तक 200 रुपए प्रति क्विंटल की गिरावट आ चुकी है। लेकिन अब ज्यादा गिरावट नहीं आएगी क्योंकि नरमा कपास के भाव 7000 रुपए प्रति क्विंटल तक स्टेबल रहने की संभावना है। रोजाना अपनी मंडी के ताजा भाव, फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट और मौसम पूर्वानुमान की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर रोजाना विजीट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

खल बिनौला तेजी मंदी रिपोर्ट 2023, cottonseed fast recession report 2023 ,

सरसों भाव 👉 sarso Mandi bhav 28 june 2023 / सरसों मंडी भाव

ग्राहकी कमजोर होने से हाल ही में बिनौला खल के भाव 200 रुपए क्विंटल घट गए। भविष्य में और ज्यादा गिरावट की संभावना नहीं है।
पशु आहार वालों की मांग कमजोर होने तथा सप्लाई बढ़ने से एक माह के दौरान स्थानीय बाजार में बिनौला खल के भाव 200 रुपए घटकर 3000/ 3100 रुपए प्रति कुंतल रह गए। उक्त अवधि के दौरान पंजाब की मंडियों में बिकवाली बढ़ने से बिनौले के भाव 200 रुपए टूटकर 3000/ 3300 रुपए प्रति क्विंटल रह गए। बिनौले में आई नरमी के कारण से मंदे को बल मिला। सप्लाई बढ़ने से बठिंडा मंडी में भी बिनौला खल 200 रुपए घटकर 3400/3450 रुपए प्रति कुंतल रह गई।

हापुड़, मेरठ की मंडियों में भी उठाव न होने से इसके भाव 100 रुपए घटकर 3100/3200 रुपए प्रति कुंतल पर आ गया। वारंगल में उठाव न होने से बिनौला के भाव 200 रूपये घटकर 2850/2900 रूपये प्रति क्विंटल रह गया। अमरावती लाइन में भी मांग कमजोर होने से बिनौला खल के भाव 200 रुपए घटकर 2600/2650 रुपए प्रति क्विंटल रह गया। सटोरिया बिकवाली बढ़ने से एनसीडीईएक्स में बिनौला खल जुलाई डिलीवरी 100 रूपये घटकर 2465 रूपये प्रति क्विंटल रह गया।

अन्य पशु आहार जैसे चना छिलका के भाव 2400/2500 रूपये तथा चना चूरी के भाव 2900/2950 रूपये प्रति क्विंटल पर सुस्त रही। हालांकि वर्षा की कमी के कारण चालू सीजन के दौरान देश में खरीफ कपास की बिजाई 28 लाख हेक्टेयर में हुई है। जबकि पिछले वर्ष इस समय तक बुवाई 32 लाख हेक्टेयर से अधिक क्षेत्र में हुई थी। वर्तमान हालात को देखते हुए आने वाले समय में बिनौला खल की कीमतों में और गिरावट की संभावना नहीं है, बाजार 150/200 रुपए की तेजी मंदी के बीच में घूमता रह सकता है

डिस्क्लेमर : – व्यापार अपने विवेक से करें। लाभ हानि की हमारी कोई गारंटी नहीं होगी

Don`t copy text!