WhatsApp Group से जुड़े
Join Now
Youtube channel से जुड़े Subscribe
Telegram Channel से जुड़े Join Now

 

चना भाव साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 / चना भाव में आएगी तेजी

Spread the love

चना भाव साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 / Chana bhav boom Recession report 2023 : – चना का भाव 2023, chana bhav today नमस्कार किसान भाइयों चना भाव में तेजी पर ब्रेक लग चुका है। चना भाव 6800 का स्तर छू चुका था लेकिन सरकार द्वारा नाफेड द्वारा खुले बाजार में चने की बिक्री से भाव में गिरावट आई। लेकिन त्यौहारी सीजन आने के कारण चना भाव में तेजी आने की संभावना है। रोजाना अपनी मंडी के ताजा भाव अपडेट फसलों की तेजी मंदी रिपोर्ट और मौसम पूर्वानुमान की जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट पर रोजाना विजीट करें और गुगल पर सर्च जरूर करें 👉 Mandi xpert

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

चना भाव साप्ताहिक तेजी मंदी रिपोर्ट 2023, Chana bhav boom Recession report 2023

सोयाबीन तेजी मंदी रिपोर्ट 👉 सोयाबीन और सोया तेल तेजी मंदी रिपोर्ट 2023 / सोयाबीन भाव में मंदी के आसार

चना सप्ताहिक रिपोर्ट: पिछला सप्ताह शुरुवात सोमवार दिल्ली राजस्थान लाइन नया 6425/50 रुपये पर खुला था। और शनिवार शाम चना 6375/6400 रुपये पर बंद हुआ। बीते सप्ताह के दौरान चना दाल बेसन में मांग न रहने से -50 रुपये प्रति क्विंटल की गिरावट दर्ज हुआ, चना दाल और बेसन में कमजोर ग्राहकी से चना के दाम पर दबाव दर्ज किया गया नाफेड द्वारा चना दाल (भारत दाल ब्रांड) बिक्री का काफी विपरीत प्रभाव पड़ा है। नाफेड द्वारा चना दाल 55-60 रुपये प्रति किलो पर बेचा जा रहा कुछ राज्य सरकारें भी प्रति माह 1 किलो मुफ्त चना दाल बांट रही है।

इस बीच नाफेड द्वारा कम भाव पर चना पास करने से भी चना पर दबाव बन रहा जबकि 6000 के ऊपर चना टेंडर पास कर रहा; जिससे सेंटीमेंट पर दबाव पड़ा है चना की कमी तो है लेकिन सरकारी दबाव के कारण सेंटीमेंट कमजोर पड़ता जा रहा है। नाफेड के कारण ही चना बढ़ा था और अब उसी के कारण बाजार पर दबाव भी है। दिवाली तक चना दाल और बेसन की मुख्य मांग की रहती और ऐसे में सरकार का प्रयास भाव पर अंकुश लगाना है।

दिल्ली चना को 6375 का महत्वपूर्ण सपोर्ट है। जिसके बाद 6175-6000 जबकि तेजी की चाल 6700 के ऊपर ही सरकार जल्द ही चना का एमएसपी बढ़ाने की घोषणा करेगी हालांकि उसका बाजार पर कोई सकारत्मक असर पड़ने की उम्मीद नहीं चना उत्पादक राज्यों में अच्छी बारिश से इस वर्ष चना की बोआई बढ़ेगी जो भविष्य में सेंटीमेंट पर विपरीत असर दाल सकता है। चना का भविष्य नाफेड टेंडर पर यदि वह कम भाव में टेंडर पास करेगा तो बाजार में कमजोरी रहेगी हालांकि चना की कमी को देखते हुए दल्ली चना फिलहाल 6300-6500 की रेंज में कारोबार करने की संभावना।

Don`t copy text!